Blog 6 Flashback 3: My first day in Jhansi

0
127

Blog 6 Flashback 3: My first day in Jhansi – I did not know when I fell asleep while thinking of different thoughts. In the morning when the eye opened, we were going to reach Jhansi. I remember, at 6 in the morning we reached Jhansi. My relatives live there and we went straight to their house. After the daily activity and breakfast, we went to Engineering College to get admission from him (College of Science and Engineering, Jhansi)

Blog 3 Flashback 1: My journey

Blog 6 Flashback 3: My first day in Jhansi – अलग अलग ख्यालों को सोचते हुए मैं कब सो गया मुझे पता ही नहीं लगा। सुबह जब आँख खुली तो हम लोग झाँसी पहुँचने वाले थे। मुझे याद है, सुबह के 6 बजे हम झाँसी पहुँच गए थे। वहां मेरे रिलेटिव्स रहते हैं और हम सीधा उनके घर गए। डेली एक्टिविटी और ब्रेकफास्ट करने के बाद हम वह से मेरी एडमिशन करवाने के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज गए (कॉलेज ऑफ़ साइंस एंड इंजीनियरिंग, झाँसी)।

I was very interested in the computer subject. I knew how to operate computers at the advanced level. So I took admission in the computer stream. Because I did not know who would be so why I took a no sharing room to stay. After all the formalities we came here to our relative. We diner and slept The next day Father had to go back to Chandigarh. My life was to start with a new one. This is one of those things that made me change quite a lot.

मेरा कम्प्यूटर्स मैं काफी इंटरेस्ट था, और पहले से कंप्यूटर ऑपरेट करना आता था। इसलिए मैंने वह कंप्यूटर स्ट्रीम मैं एडमिशन लिया। क्योंकि मैं नहीं जानता था कि कौन कैसा होगा इसलिए रहने के लिए मैंने नो शेयरिंग रूम लिया। सभी फॉर्मेलिटी के बाद हम अपने रिलेटिव के यहाँ आ गए। हमने डिनर किया और सो गए। अगले दिन पिताजी ने वापिस चंडीगढ़ जाना था। मेरी लाइफ एक नए वे से स्टार्ट होनी थी। एक ऐसा वे जिसकी वजह से मेरे नेचर मैं काफी बदलाव आए। 

In the next flashback, I will share with you the first semester of my graduation. Please give me your feedback. And tell me what should I do to change what I write?

अगले फ्लैशबैक मैं अपनी ग्रेजुएशन के फर्स्ट सेमेस्टर को आप लोगों के साथ शेयर करूँगा। आप मुझे अपना फीडबैक ज़रूर दे। और मुझे लिखने मैं क्या बदलाव करने चाहिए।

Enter your personal email address below to subscribe our Newsletter:

Enter your email address:

 

Your information is 100% safe and will not be shared with anyone else. You can unsubscribe with one click at any time.

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here